Join Sai Baba Announcement List

DOWNLOAD SAMARPAN - APRIL 2016




Author Topic: अपने मन का साई  (Read 118604 times)

0 Members and 1 Guest are viewing this topic.

Offline tana

  • Member
  • Posts: 7074
  • Blessings 139
  • ~सांई~~ੴ~~सांई~
    • Sai Baba
Re: अपने मन का साई
« Reply #30 on: May 03, 2008, 12:34:08 AM »
  • Publish
  • ॐ सांई राम~~~

    मेरे बाबा मेरे सांई....आज बस यही बोल रहा है मेरे मन का सांई कि...

    इस योग्य मैं नहीं हूँ,जो सांई तुझे बुलांऊ,
    पर चाहती हूँ इतना,हर पल तुझे ध्याऊँ,
    तूँ मेरा होवे न होवे,मैं तेरी बन जाऊँ~~~

    जय सांई राम~~~
    "लोका समस्ता सुखिनो भवन्तुः
    ॐ शन्तिः शन्तिः शन्तिः"

    " Loka Samasta Sukino Bhavantu
    Aum ShantiH ShantiH ShantiH"~~~

    May all the worlds be happy. May all the beings be happy.
    May none suffer from grief or sorrow. May peace be to all~~~

    Offline my_sai

    • Member
    • Posts: 1899
    • Blessings 9
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #31 on: May 04, 2008, 09:16:29 AM »
  • Publish
  • om sai ma ,
    sai ma aaj merey man ka sai keh raha hai ki main apney is janam or pichley kai janamo main kiye huay apradho ke liye aap se or apney elders se haath jod ker shama chaati hoon . sai ma mujhey or merey periwar ko maafi milegi kya ?
    sai ma ham sabko maaf ker do ,
    hamain aasra e do apney cherno ki sheetal chaaya main

    jai sai ram
    jai sai ram
    jai sai ram
    jai sai ram
    श्री सद्रगुरु साईनाथ.
    मेरा मन-मधुप आपके चरण कमल और भजनों में ही लगा रहे । आपके अतिरिक्त भी अन्य कोई ईश्वर है, इसका मुझे ज्ञान नहीं । मुझ पर आप सदा दया और स्नेह करें और अपने चरणों के दीन दास की रक्षा कर उसका कल्याण करें । आपके भवभयनाशक चरणों का स्मरण करते हुये मेरा जीवन आनन्द से व्यतीत हो जाये, ऐसी मेरी आपसे विनम्र प्रार्थना है ।
     श्री सद्रगुरु साईनाथार्पणमस्तु

    Offline tana

    • Member
    • Posts: 7074
    • Blessings 139
    • ~सांई~~ੴ~~सांई~
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #32 on: May 05, 2008, 02:37:47 AM »
  • Publish
  • ॐ सांई राम~~~

    आज मेरे मन का सांई पूछे मुझसे मैं क्या चाहती हूँ??

    मैने कहाँ सांई~~ अब तो मैं तुझ से तुझे मागनां चाहती हूँ~
    बनाया हुआ तेरा संसार देखा,
    मगर अब मेरे सांई मैं बस तुझे ही देखना चाहती हूँ~~~

    जय सांई राम~~~
           
    "लोका समस्ता सुखिनो भवन्तुः
    ॐ शन्तिः शन्तिः शन्तिः"

    " Loka Samasta Sukino Bhavantu
    Aum ShantiH ShantiH ShantiH"~~~

    May all the worlds be happy. May all the beings be happy.
    May none suffer from grief or sorrow. May peace be to all~~~

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #33 on: May 06, 2008, 09:46:22 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    मेरे मन के सांई का आज का संक्षिप्त संदेश - यदि समस्या है तो समाधान है ही।

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #34 on: May 07, 2008, 04:48:04 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    मेरे मन के सांई ने आज मुझसे कहा - सच बोलने मे थोड़ी सी परेशानी जरुर होती है पर बाद मे जब सब कुछ ठीक हो जाता है तो मज़ा आने लगता है . फिर तो ऐसी आदत हो जाती है कि चाहे सच कितना ही कड़वा क्यूं ना हो मुह से सच ही निकलता है. मेरा अपना अनुभव रहा है कि एक झूठ बोल दो फिर ये सिलसिला चलता ही चला जाता है.

    क्यूं सच है ना ????

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline tana

    • Member
    • Posts: 7074
    • Blessings 139
    • ~सांई~~ੴ~~सांई~
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #35 on: May 07, 2008, 05:06:08 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    मेरे मन के सांई ने आज मुझसे कहा - सच बोलने मे थोड़ी सी परेशानी जरुर होती है पर बाद मे जब सब कुछ ठीक हो जाता है तो मज़ा आने लगता है . फिर तो ऐसी आदत हो जाती है कि चाहे सच कितना ही कड़वा क्यूं ना हो मुह से सच ही निकलता है. मेरा अपना अनुभव रहा है कि एक झूठ बोल दो फिर ये सिलसिला चलता ही चला जाता है.

    क्यूं सच है ना ????

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।


    ॐ सांई राम~~~

    हांजी रमेश भाई...

    बिल्कुल सही कहा आप ने एक झूठ बोल दो फिर ये सिलसिला चलता ही चला जाता है....

    और एक झूठ छिपाने के लिए सौ झूठ और बोलने पङते है....

    जय सांई राम~~~

           
    "लोका समस्ता सुखिनो भवन्तुः
    ॐ शन्तिः शन्तिः शन्तिः"

    " Loka Samasta Sukino Bhavantu
    Aum ShantiH ShantiH ShantiH"~~~

    May all the worlds be happy. May all the beings be happy.
    May none suffer from grief or sorrow. May peace be to all~~~

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #36 on: May 09, 2008, 08:42:37 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    Today My मन का साई asked BABA SAI, "How do I get best out of life?"

    BABA said, "Face your past without regret. Handle you present with confidence.  And prepare your future without fear".

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #37 on: May 10, 2008, 06:48:03 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    Today My मन का साई said....

    Whenever you are silent, you are close to 'ME'.  Whenever your mind begins chattering, you start going away from 'ME'.

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #38 on: May 11, 2008, 08:26:39 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    Today My मन का साई said....

    Don't Spend TIME Just Working And Being Busy.  You will Always Complain about Lack of Time.
     
    Instead Put a Little Bit of Effort; Plan and Organize Your Life. You will Realize That You have TIME for Everything....

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #39 on: May 15, 2008, 11:34:27 PM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    Today My मन का साई said....

    We must have respect and understanding for women and all female life on this Earth which bears the sacred gift of life."
     
    HE further said that many men of today had lost their ability to look at the Woman in a sacred way. HE said we are only looking at Her in a physical sense and had lost the ability to look at Her sacredness. HE emphasized that the Woman has a powerful position in the Unseen World. She has the special ability to bring forth life.

    Today BABA's message for all of us is to start showing respect to all women in our life and to look upon them in a sacred manner. We must start this today.

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #40 on: May 22, 2008, 09:29:30 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    आज मेरे मन के सांई ने मुझसे कहा - मन बुरा नहीं है इसे सुंदर भावनाओं से तरंगित करो तो यही मन सुंदर विचारों से ऊँचाइयों को छू लेगा, और अगर बुरे विचारों से भरोगे तो यह न्यूनतम से न्यूनतम नीचे गिर जाता है ! इसलिए मन के अन्दर उठती तरंगों को पवित्र बनाए रखो !

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #41 on: May 25, 2008, 08:55:00 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    मेरे मन के साई की बात आज फिर आप सब के लिये -

    थक जाओ गर पथरीले रास्तों पे चलते हुऐ
    कभी सोच ना लेना कि वंहा तन्हा हो तुम
    मूंद कर पलको को अपनी जो तुम देखोगे
    अपने साथ ही सदा मुझ को पाओगे तुम

    हर वक्त बुरा कट जाता है, यकीन करना
    आँखों में कभी तुम अश्क ना भर लेना
    गम बढ़ जाये, मुस्कराहट खोने लगे
    अपनी दुआओं में मुझ को पाओगे तुम

    इश्क नाम तो नहीं है मिलन का, दीदार का
    दिल से दिल का मिल जाना है नाम्-ए-मौहब्बत
    जो याद आ जाये मेरी, ना समझना कि दूर हूँ
    अपने सीने में धड़कता मुझ को पाओगे तुम

    वक्त की गरमी जो झुलसाने लगे वजूद
    मेरी चाहत की नमी को महसूस करना
    जो सर्द हवाऐं ज़माने की आने लगें पास
    मेरी शिरडी की गरमी को महसूस करना

    मै तुमसे जुदा तो नही हूँ मेरे प्यारे बच्चो
    अपने साथ ही सदा मुझ को पाओगे तुम सदा।

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #42 on: May 27, 2008, 11:08:21 PM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    आज मेरे मन के सांई ने मुझसे कहा - तुम सब प्रकाश हो!  तुम्हारी शक्ति अपरमपार है! लेकिन तुम सब अपनी शक्ति को भूल गये हो!  पिता परमात्मा ने तुम लोगों को ज्योति स्वरूप की तरह इस जगत में भेजा है! तुम सभी जँहा भी रहो अपने हिस्से का प्रकाश फैलाते रहो!  जहाँ भी रहो उस स्थान को प्रकाशित करते रहो!

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #43 on: June 04, 2008, 03:49:27 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    आज मेरे मन के सांई ने मुझसे कहा -

    अपने लौ को सदैव मध्यम ही जलने देना
    देखना प्रकाश पर खुद के कभी घमंड न हो
    प्रेरणा बनो सबकी, दिखाना राह-ए-नज़र
    सबको मेरी शिरडी की
    और दीप बन तुम जलते रहना यूंही सदा निरंतर!

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: अपने मन का साई
    « Reply #44 on: June 05, 2008, 03:57:29 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    आज मेरे मन के सांई ने मुझसे कहा - "धैर्य रखो,  देखो घबराओं मत, हिम्‍मत से काम लो। समय को देखकर बर्ताव करो। मन से सारे भय को निकाल दो।" 

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

     


    Facebook Comments