Join Sai Baba Announcement List

DOWNLOAD SAMARPAN - APRIL 2016




Author Topic: You are my inspiration  (Read 100199 times)

0 Members and 1 Guest are viewing this topic.

Offline saikripa.dimple

  • Member
  • Posts: 212
  • Blessings 5
  • Om Sai Ram
Re: You are my inspiration
« Reply #435 on: April 29, 2009, 12:35:40 AM »
  • Publish
  • Aao aaj hum sab milkar ye Vaada kare khudse
    Kii

     
    Jis haal me rakhe Sai , Us haal me khushi se rahenge Hum
    Sukh ho ya Dukh , Naam unka japenge har pal
    Chahe bhatkaye ye zamana
    Chahe maare jag taana
    Magar Sai Sai kahte kahte
    Jeevan gujarenge Hum

    Kuch kahna hoga gar Sai se
    Toh Shukriya hi karenge Hum

    mila hai ye jeevan toh den hai usi ki
    Usi ke liye jeevan nyochhavar karenge Hum

    Nahi hume haq rulane ka kissi ko
    Nahi hume haq satane ka kissi ko
    Gar nh kar paaye kisi ki madad toh
    Rasta use Sai Dar ka dikhlayenge Hum

    Joh bhatak gaye hai zindagi se apni
    Joh naraz hai har khushi se apni
    Joh anjaan hai Sai ki shakti se
    Unhe jeevan jeena sikhayenge Hum

    Nahi phir Sai ka dil kabhi dukhayenge Hum
    Kabhi na karenge shikwa unse
    Sada musakuraayenge Hum

    Hai yakeen mera musakurata hume dekh kar
    Sai ki Vyadha ko kam kar paynge hum

    Do Sai Aashirwaad prann ko hamare
    Saari duniyaa ko Sai se milana Chahate hai Hum

    Diya hai Jeevan Ye aapne
    Aapko hi samarpit ye jeevan karte hai hum

    Karo aisi kripa apne bachcho par
    Aa kar paas tumhare
    tumhare hi ho le Hum

    Na bhule kabhi dil Sai ko apne
    Sote Jagte Sai Japte rahe Hum


    OM SAI RAM
    Jai Sai Ram
    Sai teri "Kami" bhi hai, tera "Ehsaas" bhi hai....

    Sai tu "Door" bhi hai mujhse par "Paas" bhi hai......

    Khuda ne yun nwaza hai teri "Bhakti" se mujhko.....

    Kii.............

    Khuda ka "Shukr" bhi hai aur khud pe "Naaz" bhi hai..

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #436 on: July 17, 2009, 09:13:47 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।
     
    सांई माँ

    सिर्फ़ एक शब्द नही
    एक भाव
    ममत्व का

    सांई माँ
    सिर्फ़ पोषक नही
    एक प्यार
    जीवन का

    सांई माँ
    सिर्फ़ अस्थियों का ढांचा नही
    एक आकार
    स्नेह का

    सांई माँ
    सिर्फ़ एक सम्बन्ध नही
    एक स्रोत करुणा का
    दया का
    श्रध्दा सबूरी का

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई
    ॐ सांई राम।।।

    जय सांई राम।।।
     

    बाबा सांई के रूप में एक बहन का भाई को आदेश। मेरी वापसी अपनी द्वारका मांई में।  कोई कितने दिन इससे दूर रह सकता है?

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।



    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Online Admin

    • Administrator
    • Member
    • *****
    • Posts: 7516
    • Blessings 54
    • साई राम اوم ساي رام ਓਮ ਸਾਈ ਰਾਮ OM SAI RAM
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #437 on: July 18, 2009, 03:48:16 AM »
  • Publish
  • Welcome Back Ramesh Bhai

    Devotees are really missing your wonderful posts. Please continue to visit as the time allows.

    Sai Ram

    Offline saisewika

    • Member
    • Posts: 1548
    • Blessings 33
    Re: You are my inspiration
    « Reply #438 on: July 18, 2009, 12:59:10 PM »
  • Publish

  • जय सांई राम।।।
     
    सांई माँ

    सिर्फ़ एक शब्द नही
    एक भाव
    ममत्व का

    सांई माँ
    सिर्फ़ पोषक नही
    एक प्यार
    जीवन का

    सांई माँ
    सिर्फ़ अस्थियों का ढांचा नही
    एक आकार
    स्नेह का

    सांई माँ
    सिर्फ़ एक सम्बन्ध नही
    एक स्रोत करुणा का
    दया का
    श्रध्दा सबूरी का

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई
    ॐ सांई राम।।।

    जय सांई राम।।।
     

    बाबा सांई के रूप में एक बहन का भाई को आदेश। मेरी वापसी अपनी द्वारका मांई में।  कोई कितने दिन इससे दूर रह सकता है?

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।






    ॐ साईं राम

    तेरे चाहने वाले साईं
    तेरे दर पे आ गए हैं
    वापस वो कैसे जाऐं
    मन्ज़िल जो पा गए हैं

    मुड मुड के आ जातें हैं
    कभी दूर भी जो जाऐं
    समन्दर की जैसे लहरें
    साहिल से आ टकराऐ।

    बनके नदी की धारा
    सींचे हैं कितने जीवन
    पाने को अपना उदगम
    सागर में समा गए हैं

    जय साईॅ राम

    Offline saikripa.dimple

    • Member
    • Posts: 212
    • Blessings 5
    • Om Sai Ram
    Re: You are my inspiration
    « Reply #439 on: July 21, 2009, 02:04:08 AM »
  • Publish
  • Nahi dukh unko kabhi sata paaye
    jo bhi sai sharan mein aaye

    muskraate hue yeh jeevan bitaye
    dukh toh paas bhatak bhi naa paye
     ik baar agar tu sai ko apnaaye

    bhul kar yeh duniya
    bhul kar rishtedaari
    ho ja magan , sai ki masti me
    phir dekh kya rang laati  hai
    yeh saari duniya sai ki shakti se

    bhul ja ki ye sab hai tere liye
    bhul ja ki ye zindagi teri hai
    bas yaad rakh , toh Sai ka naam
    hota hai kya, phir dekh
    Sai ki marzi se..........

    hai bahut sundar, suhana woh safar
    jisme Sai saath saath chale
    jab gire woh uthaye, kabhi humko sambhale
    jab tadpane lage, toh, gale se lagaye

    har pyar toh hume unhi se mila hai
    yeh toh duniya toh bas, dukh hi deti
    toh q naa hum bhi sai me mil jaaye
    kar le sarthak ye jeevan
    sai charno me apna sheesh jhukaye

    Jai Sai Nath
    Jai Sai Ram
    Sai teri "Kami" bhi hai, tera "Ehsaas" bhi hai....

    Sai tu "Door" bhi hai mujhse par "Paas" bhi hai......

    Khuda ne yun nwaza hai teri "Bhakti" se mujhko.....

    Kii.............

    Khuda ka "Shukr" bhi hai aur khud pe "Naaz" bhi hai..

    Offline gayathri8

    • Member
    • Posts: 317
    • Blessings 6
    Re: You are my inspiration
    « Reply #440 on: July 21, 2009, 09:20:09 AM »
  • Publish
  • Hi Rameshji,

    Your poems are really good, when I was reading your poems I thought as "if he written some poems in telugu langauage .I can feel every word , meaning in that"

    anyway thanks for these poems.


    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #441 on: July 27, 2009, 10:11:35 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।
     
    दिल से "तेरा" ख्याल ना जाये तो क्या करूँ।
    "तू" ही बता "तेरी" याद आये तो क्या करूँ।

    हसरत है कि "तुझे" इक नजर देखूँ,
    किस्मत अगर ना दिखाये तो क्या करूँ।

    चारों तरफ़ "तू" ही "तू" नजर आये तो क्या करूँ ,
    हवाये "तेरी" आवाज सुनाये तो क्या करूँ।

    मैं सर झुकाता हूँ सजदे में "तेरे" ही,
    मुझको ही ना नजर आये तो क्या करूँ।

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline shirsi

    • Member
    • Posts: 113
    • Blessings 3
    • Jai Jai Shree Sai!
    Re: You are my inspiration
    « Reply #442 on: July 28, 2009, 04:52:29 AM »
  • Publish
  • om sai ram



    Saibaba,

    Where are You My Lord? Where are You?

    I have searched for You In temples and ashrams
    In masjids and minars But, I failed to feel You.

    I have searched for You In churches and chapels
    In gurudwaras and gopurams But, I failed to absorb You.

    I have searched for You In discourses and bhajans
    In meditations and murthis But, I failed to invoke You.

    I have searched for You In mountains and valleys
    In forests and caves But, I failed to see You.

    I have searched for You In Rivers and rivulets
    In brooks and lakes But, I failed to to trace You.

    I have searched for You In flowers and fragrances
    In the universe and ether But, I failed to know You.

    I have searched for You In swamis and sadhus
    In gurus and samadhis But, I failed to hold on to You.

    I have searched for You In retreats and resolutions
    In resorts and rationalization But, I failed to meet You.

    I have searched for You Everywhere day and night
    It is now beyond my imagination Reveal Yourself Oh my Lord!

    Ah! You are here my Lord, within Me! Just waiting for me to open up to You
    Yes, You will not reveal to half-hearted efforts Unless I submit myself by thought, word and action.

    My Lord! You are within me But, fool am I that
    I searched for you outside Without giving up what I am holding on
    And living up to your expectation. Due to my ignorance and arrogance
    I falied to enjoy Your love for me so far You are just waiting for my correct moves
    To take me into Your lap.

    Thank You My Lord! for the transformation Now, I can see You clearly
    In every beam of Sun-rays In every moon-lit night In every flower In every smile
    In everything animate and inanimate In fact, You Are and nothing else. Thank You My Lord for Your Blessings and Love.


    Contributed by: Paritala Gopikrishna,
    Source: Sai Vichaar, Thursday, March 23, 2006 :: Volume 8, Issue 45.


    Jai Jai Shree Sai!!
    ||om shree sai nathaya namaha||
    ***************************

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #443 on: July 28, 2009, 08:40:52 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।
     
    सुनाता रहता हूँ तुझे दिल की बातें,
    तेरी आरज़ू में जिए जा रहा हूँ |
    हूँ मदहोश मैं दीवाना तेरा ,
    तुझे हर तरफ़ हर घड़ी पा रहा हूँ|
    भटकता रहता था मैं रोशनी में भी
    लेकिन अंधेरो में भी अब तुझे पा रहा हूँ|
    यूँ चल तो रहा हूँ मगर ना ख़बर हैं,
    मैं कैसे कहाँ और किधर जा रहा हूँ |
    मगर इस यकीं पे मैं चल तो रहा हूँ,
    कि हो ना हो तेरे क़रीब आ रहा हूँ |
    तुझे पाके तुझको ही मांगता हूँ,
    तेरी दुआ मैं भी चला आ रहा हूँ|
    लिखें हैं जो मैने गीत तेरे,
    तेरी धड़कनो से बस गा रहा हूँ |
    वहाँ जागता हैं रातों को तू भी,
    मन के दीप तेरे लिये
    मैं भी यँहा जलाये जा रहा हूँ 

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #444 on: July 31, 2009, 01:44:39 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।
     
    ज़िन्दगी के सफ़र में अकेले थे हम
    आप जैसा हमें मेहरबान मिल गया
    आप ने बक्शी है हमें नई ज़िन्दगी
    वरना दुनियाँ में कोई हमारा ना था
    थी अन्धेरे में भटकी हुई ज़िन्दगी
    और जीने का कोई सहारा भी ना था
    आप अन्धरों में बन कर मिले रोशिनी
    जगमगाता हुआ आशियां मिल गया
    और अब कुछ खुदा से ना मांगेंगे हम
    मुस्कराता हुआ गुलस्तान मिल गया
    अपनी किस्मत पे हम को बड़ा नाज़ है
    आप जैसा हमसफर जो मिल गया...कारवाँ मिल गया
    ज़िन्दगी के सफ़र में अकेले थे हम
    आप जैसा हमें मेहरबान मिल गया
    आप जैसा हमें मेहरबान मिल गया।

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #445 on: August 13, 2009, 09:41:14 AM »
  • Publish

  •  
    साईं राम


    साईॅ खडे हैं द्वार पे
    देखो हाथ पसार
    दो पैसे की दक्षिणा
    मांग रहे सरकार

    पहला पैसा श्रद्धा का
    भक्ति भाव भरपूर
    लेशमात्र भी कम हो तो
    लेंगे नहीं हुजूर

    श्रद्धा पूरी चाहिए
    ज्यों पूर्णिमा चन्द्र
    कष्ट ताप संताप से
    होवे ना जो मंद

    पर्वत जैसा अटल रहे
    भक्तों का विश्वास
    भ्रम संशय तो हो नहीं
    ना होवे कोई आस

    श्रद्धा से भक्ति बढे
    जगे प्रेम का भाव
    घट घट देखे साईं को
    चढे मिलन का चाव

    दूजी दक्षिणा सबुरी की
    धीरज धरती जैसा
    साईं भक्त से मांग रहे
    यही दूसरा पैसा

    कष्ट देखकर सामने
    धैर्य ना डगमग होवे
    सब्र करे, ना विचलित हो
    भक्ति भाव ना खोवे

    झंझावत तूफान हो
    या दुख का हो सागर
    छलक छलक कर गिरे नहीं
    भक्ति रस की गागर

    सब्र संपदा अति सुखद
    साईं की अति प्यारी
    जिसकी गाँठ ये संपदा
    साईं प्रेम अधिकारी

    धृति धारणा धैर्य धर
    मन निर्मल हो जावे
    जिसके हृदय सबुरी हो
    वही साईं को पावे

    सारे जग के दाता की
    भक्तों से दरकार
    श्रद्धा और सबुरी ही
    मांगे देवनहार

     
    जय साई राम


    जय सांई राम।।।

    खुशियॊं के सागर की सीमा हॊ तुम ।
    मधुर सुरॊं की वीणा हॊ तुम ।।
    मन कॊ शीतल करता संगीत हॊ।
    अधूरे मन की पूर्णता हॊ तुम।।
    बाबा हम सब के संगीत हो तुम
    बस तुम ही तुम
    शेर तुम, गजल तुम,
    गीत और कविता भी तुम
    चंद शब्द चुनके लाया था,
    जाने कहाँ वो हो गये गुम।
    कोई आंखों से गुनगुनाता है, 
    कोई मंदिर में जा सुनाता है
    ये सुखनवरों की बस्ती है,
    यहाँ हर शब्द दिल को भाता है।
    चलो बाबा तुम मीर बन जाओ,
    शब्दों के फूल तुम चुनो,
    और उन से माला
    हमारी बहन सुरेखा बुन ले।

    मैं जब दुआ करूँ
    और आप सब आमीन कहो

    और हम सबकी दुआ क़ुबूल हो जाये

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #446 on: January 16, 2010, 10:33:40 PM »
  • Publish

  • जय सांई राम।।।
     
    कल रात मेरी आँख से एक आँसू निकल आया
    मैंने उससे पूछा तो उसने
    मुस्करा कर ये बताया
    "कोई" तेरी आँखों में है इतना समया
    कि मैं चाह कर भी अपनी जगह ना बना पाया

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #447 on: January 27, 2010, 08:56:14 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।
     
    बेशक कुछ वक्त का इन्तज़ार मिला हमको
    पर खुदा से बढ़कर आपके जैसा दोस्त मिला हमको
    ना रही अब किसी जन्नत की तमन्ना
    ऐ-बाबा - 'मेरे दोस्त' तेरी दोस्ती से इतना प्यार मिला हमको़

    हैपी वेलेन्टाईन डे बाबा

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    « Last Edit: February 14, 2010, 07:01:50 AM by Ramesh Ramnani »
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline FaithInSai

    • Member
    • Posts: 92
    • Blessings 4
    Re: You are my inspiration
    « Reply #448 on: May 23, 2010, 10:43:14 AM »
  • Publish
  • Sai's ways are many, and even more so mystique
    just as each of His bricks, so very unique
    each of Sai's ardent devotee
    shares with us all, their inner energy
    their feelings of depth, faith, inner harmony
    so blessed are we all, to have with us, our Saiji
    truly do I pray to Sai, for His everlasting Company.

    Dear Ramesh -- true inspiration.

     


    Facebook Comments