Join Sai Baba Announcement List


DOWNLOAD SAMARPAN - Nov 2018





Author Topic: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!  (Read 29083 times)

0 Members and 1 Guest are viewing this topic.

Offline Ramesh Ramnani

  • Member
  • Posts: 5501
  • Blessings 60
    • Sai Baba
Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
« Reply #30 on: November 03, 2007, 12:20:47 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    ज़िन्दगी, मौत और मोहब्बत

    ज़िन्दगी

    ज़िन्दगी भी एक पहेली है
    जो कभी नही सुलझती
    जितना उसे सुलझाओ
    ज़िन्दगी ओर है उलझती
     
    मौत

    मौत तो एक किनारा है
    जिसमे डूबकर जाना है
    जो डूब गया 'उसकी' मोहब्बत में
    मौत को उसी ने ही जाना।।
     
    मोहब्बत

    मोहब्बत तो वो दुआ है
    जो हर किसी को नही लगती
    जिसे लग गई इसकी बद-दुआ
    मोहब्बत उसको ही है मिलती

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #31 on: November 23, 2007, 07:09:29 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    इक दिन बाबा सांई ने मुझसे सपने में आकर सवाल किया
    कि तुम मेरे प्यार को कब तक लेना चाहते हो
    मैने अपना एक आँसू समन्दर में गिरा दिया
    और कहा कि जब तक तुम इस को
    ढूंढ ना लो!  तब तक....

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई
    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline tana

    • Member
    • Posts: 7074
    • Blessings 139
    • ~सांई~~ੴ~~सांई~
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #32 on: November 23, 2007, 11:15:50 PM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    इक दिन बाबा सांई ने मुझसे सपने में आकर सवाल किया
    कि तुम मेरे प्यार को कब तक लेना चाहते हो
    मैने अपना एक आँसू समन्दर में गिरा दिया
    और कहा कि जब तक तुम इस को
    ढूंढ ना लो!  तब तक....

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई
    ॐ सांई राम।।।


    Om Sai Ram~~~

    JUST Wowwwwwwwwwwww~~~~~Ramesh bha ji~~~~

    यही तो प्यार ~~~~ बाबा~~~~

    Jai Sai Ram~~~
    "लोका समस्ता सुखिनो भवन्तुः
    ॐ शन्तिः शन्तिः शन्तिः"

    " Loka Samasta Sukino Bhavantu
    Aum ShantiH ShantiH ShantiH"~~~

    May all the worlds be happy. May all the beings be happy.
    May none suffer from grief or sorrow. May peace be to all~~~

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #33 on: November 29, 2007, 09:16:45 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    आहिस्ता से मानो 'वो' पल की तरह ग़ुज़र गया मुझे छू कर
    मैंने मुड़के देखा तो कोई आवाज़ ना थी
    एक एहसास की तरह बस गया है 'वो' साँसों में मेरी
    गुनगुनाता रहता हूँ 'उसकी' कहानी 'उसका' वो मन्ज़र
    जिसकी न कोई इन्तहा है और न ही कोई आगाज़.

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई
    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #34 on: December 02, 2007, 09:24:41 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    मैने कंही सुना कि प्यार को तब तक प्यार ना करो जब तक प्यार तुमसे प्यार ना करे। और प्यार तुमसे प्यार करे तो प्यार को  इतना प्यार करो कि प्यार किसी और से प्यार ना करे।

    क्या कभी ऐसा हो सकता है कि प्यार किसी एक का होकर रह जाये? मै तो ऐसा नही मानता। प्यार तो द्वारकामाई है शिरडी की बगिया की जिसके फूलों की महक पर सब का अधिकार है। क्यों क्या कहना है आप सबका?   

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline saisewika

    • Member
    • Posts: 1549
    • Blessings 33
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #35 on: December 03, 2007, 12:29:50 PM »
  • Publish
  • ओम साईं राम

    अगर बात प्यार या प्रेम की है तो वह किसी भी दिल में बेपनाह होता है, बेइंतहां होता है.
    उसे बांटा जा सकता है, दूर दूर तक छितराया जा सकता है. वह किसी एक व्यक्ति या वस्तु
    तक रुक ही नहीं सकता. सीमित नहीं किया जा सकता.

    लेकिन अगर वह प्यार नहीं सिर्फ़ मोह है तो ज़रूर वह किसी एक व्यक्ति से हो सकता है और वह
    इतना ख़ुदगर्ज़ भी हो सकता है कि यह चाहे कि जिससे वह प्यार करता है वह सिर्फ़ बदले में उसे
    ही चाहे, और किसी को नहीं

    जैसे कंजूस आदमी का पूरा मोह उसके धन में होता है वह उसे किसी से बंटता नहीं, बस उसे अपने
    पास बनाए रखता है.

    तो मेरे ख़्याल में प्यार असीमित है उसे एक व्यक्ति या कुछ लोगों तक सीमित किया ही नही जा सकता.
    ऎसे ही ईश्वर के प्रति प्रेम है. जो भी साईं का प्रेमी है वह यह सोच ही नही सकता कि केवल वही
    साईं से प्रेम करे और कोई नहीं. या फिर बाबा केवल उसके ही प्यार का उत्तर दें बाकियों के प्रेम का
    नहीं. प्यार और मोह का अंतर बहुत महीन है. और मुक्ती के लिये उसे समझना बहुत ही ज़रूरी है.
    इसीलिये-

    जी चाहता है तेरे प्यार के
    असंख्य झिलमिलाते तारे बना दूं
    उन्हें उछालूं और पूरे जहां के
    आसमां पर उन्हें छितरा दूं
    ताकी दुनिया का हर शख्स
    उनकी चांदनी से सरोबार हो जाये
    और मेरे साईं दुनिया के हर शख्स को
    तुझसे प्यार हो जाये

    जय साईं राम

    Offline tana

    • Member
    • Posts: 7074
    • Blessings 139
    • ~सांई~~ੴ~~सांई~
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #36 on: December 03, 2007, 09:27:43 PM »
  • Publish
  • ओम साईं राम

    अगर बात प्यार या प्रेम की है तो वह किसी भी दिल में बेपनाह होता है, बेइंतहां होता है.
    उसे बांटा जा सकता है, दूर दूर तक छितराया जा सकता है. वह किसी एक व्यक्ति या वस्तु
    तक रुक ही नहीं सकता. सीमित नहीं किया जा सकता.

    लेकिन अगर वह प्यार नहीं सिर्फ़ मोह है तो ज़रूर वह किसी एक व्यक्ति से हो सकता है और वह
    इतना ख़ुदगर्ज़ भी हो सकता है कि यह चाहे कि जिससे वह प्यार करता है वह सिर्फ़ बदले में उसे
    ही चाहे, और किसी को नहीं

    जैसे कंजूस आदमी का पूरा मोह उसके धन में होता है वह उसे किसी से बंटता नहीं, बस उसे अपने
    पास बनाए रखता है.

    तो मेरे ख़्याल में प्यार असीमित है उसे एक व्यक्ति या कुछ लोगों तक सीमित किया ही नही जा सकता.
    ऎसे ही ईश्वर के प्रति प्रेम है. जो भी साईं का प्रेमी है वह यह सोच ही नही सकता कि केवल वही
    साईं से प्रेम करे और कोई नहीं. या फिर बाबा केवल उसके ही प्यार का उत्तर दें बाकियों के प्रेम का
    नहीं. प्यार और मोह का अंतर बहुत महीन है. और मुक्ती के लिये उसे समझना बहुत ही ज़रूरी है.
    इसीलिये-

    जी चाहता है तेरे प्यार के
    असंख्य झिलमिलाते तारे बना दूं
    उन्हें उछालूं और पूरे जहां के
    आसमां पर उन्हें छितरा दूं
    ताकी दुनिया का हर शख्स
    उनकी चांदनी से सरोबार हो जाये
    और मेरे साईं दुनिया के हर शख्स को
    तुझसे प्यार हो जाये

    जय साईं राम


    Om Sai Ram~~~

    Gr8 Saisewika....

    impressiveeee......good thoughts...

    maza aa gya ....

    Jai Sai Ram~~~
    "लोका समस्ता सुखिनो भवन्तुः
    ॐ शन्तिः शन्तिः शन्तिः"

    " Loka Samasta Sukino Bhavantu
    Aum ShantiH ShantiH ShantiH"~~~

    May all the worlds be happy. May all the beings be happy.
    May none suffer from grief or sorrow. May peace be to all~~~

    Offline tana

    • Member
    • Posts: 7074
    • Blessings 139
    • ~सांई~~ੴ~~सांई~
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #37 on: December 03, 2007, 09:32:21 PM »
  • Publish
  • ॐ सांई राम~~~

    प्यार , प्रेम~~~

    प्यार किसी एक का हो कर नहीं रह सकता...
    फिर वो प्यार नहीं बंधन है...

    प्यार तो उङने की आज़ादी देता है , बांधता नहीं...
    जो बंध जाए वो प्यार है ही नहीं , बंधन है....प्यार तो सीमित रह ही नहीं सकता....
    प्यार को उङने दो जितना उङे गा उतना ही बङे गा , उतना ही फैलेगा~~~

    जहाँ प्यार सीमित हो गा , जहाँ एक का हो कर रह जाए जा,वह तो फिर बस बंधन हो जाए गा....और बंधन तो सिकुङ कर टूट जाता है....

    और प्यार तो एक ऐसा एहसास है जिसे जितना महसूस किया जाए वो उतना ही मज़ा देता है...उतना ही बङता है....

    बस वैसे ही है बाबा का प्यार~~~जो हम सब उनसे करते है~~~

    जय सांई राम~~~
    "लोका समस्ता सुखिनो भवन्तुः
    ॐ शन्तिः शन्तिः शन्तिः"

    " Loka Samasta Sukino Bhavantu
    Aum ShantiH ShantiH ShantiH"~~~

    May all the worlds be happy. May all the beings be happy.
    May none suffer from grief or sorrow. May peace be to all~~~

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #38 on: December 03, 2007, 10:03:32 PM »
  • Publish
  • जय सांई राम़।।।

    वाह वाह अन्नू....क्या बात कही है......इसी बात पर एक मेरी तरफ से भी.....

    बाबा से अपना प्यार का दामन कभी ना छूटे     
    वो हमसे हम "उससे" कभी ना रूठें
    हम इस कदर प्यार निभायेंगे कि
    चाहे अपनी धड़कन खामोश हो जाये
    पर मरते दम तक अपना प्यार कभी ना तोड़ेंगे।
         
    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline rajiv uppal

    • Member
    • Posts: 892
    • Blessings 37
    • ~*साईं चरणों में मेरा नमन*~
      • Sai-Ka-Aangan
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #39 on: December 04, 2007, 09:16:53 AM »
  • Publish


  • ॥ तुझे वन्दना मैं करुं,
    परम दयामय ईश,
    परम शक्तिमय साईं राम,
    परम पुरुष जगदीश ॥
    ..तन है तेरा मन है तेरा प्राण हैं तेरे जीवन तेरा,सब हैं तेरे सब है तेरा मैं हूं तेरा तू है मेरा..

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #40 on: December 13, 2007, 11:51:18 PM »
  • Publish
  • JAI SAI RAM!!!

    There is no difficulty
    that enough love will not conquer,
    no disease that enough love will not heal,
    no river that enough love will not bridge,
    no wall that enough love will not throw down.   

    It makes no difference
    how deeply seated
    may be the trouble,
    how hopeless the outlook,
    how muddled the tangle,
    how great the mistake,
    enough love will dissolve it all.   

    If only you could love enough,
    you could be the happiest and
    most powerful being in the world...

    Have A Super Day and Nice Weekend ahead....

    May you always find Enough Love...Ofcourse When You Start Giving Enough Love to BABA SAI...

    OM SAI RAM!!!
     
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #41 on: December 17, 2007, 07:23:34 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम़।।।

    तड़प के देखो बाबा की चाहत में
    तब पता चले कि इन्तज़ार क्या होता है   
            अगर यूं ही मिल जाये साँई राम बिना तड़पे   
                तो कैसे पता चले कि बाबा का प्यार क्या होता है 
         
    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline pam99999

    • Member
    • Posts: 347
    • Blessings 4
    • PARAMGURU SRI SAINATH MAHARAJ KI JAY
      • JAI SAINATH
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #42 on: December 26, 2007, 05:03:25 AM »
  • Publish
  • pyaar kya hai...

    [youtube=425,350]http://www.youtube.com/watch?v=rU9iZgjRlfQ[/youtube]

     :-* :-*
    AUM SRI SAINATHYA NAMAH
    http://shreesainath.blogspot.com/

    Offline saisewika

    • Member
    • Posts: 1549
    • Blessings 33
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #43 on: December 26, 2007, 08:19:04 AM »
  • Publish
  • ओम साईं राम

    Thanks Pam for beautiful clipping.

    प्यार एक संबंध है-----तो जोडेंगे हम
    प्यार एक रिश्ता है----तो निभायंगे हम
    प्यार एक भाषा है---तो सिखाओगे तुम
    प्यार भक्ती की सबसे ऊंची सीढी है --------तो चढाओगे तुम

    जय साईं राम


    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: PYAAR ,MOHABBAT,ISHQ !!
    « Reply #44 on: December 26, 2007, 08:49:29 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम़।।।

    जय सांई राम।।।

    सुरेखा बहनजी को प्रणाम आदाब और जय सांई राम।

    बाबा के प्यार की राह में.....प्रेम तपस्या में....

    प्रेम एक
    सम्बन्ध है
    मेल है
    दिल के तारो का
    परस्पर स्नेह का
    विचारों का
    भावनाओं का
    एक दूजे का
    सहारा है प्यार
    समर्पण और आदर का
    सामंजस्य है प्यार
    इस दुनिया मे कई
    प्रेम पुजारी हुए
    फिर भी
    प्रेमबन्धन मे पूर्ण नही
    प्यार मोह्ब्बत के इस
    मनचले खेल ने
    "अस्तित्व"  तुम्हें
    बहुत कुछ सिखलाया है
    और सिखा रहा है

    अरे....ये किसकी आवाज है आई...
    जो चुपके से मेरे कानो मे
    शहद घोल रही है और
    अपने करीब बुला रही है
    अच्छा मैं चला और कुछ
    सीखने की चाह मे - प्यार की राह में।

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

     


    Facebook Comments