Join Sai Baba Announcement List


DOWNLOAD SAMARPAN - Nov 2018





Author Topic: You are my inspiration  (Read 139127 times)

0 Members and 1 Guest are viewing this topic.

Offline mainhoonsaibeti

  • Member
  • Posts: 932
  • Blessings 4
Re: You are my inspiration
« Reply #225 on: March 15, 2007, 04:26:35 AM »
  • Publish
  • Sai Baba said
    " a man should always be busy doing something and as far as possible he should avoid troubling others forhis own peice of work"

    I thoroughly believe in this.
    Jai Sai Nath
    OM SAI RAM
    Peace Be To All

    Sai says:
    Whatever you do, wherever you may be, always bear this in mind: I am always aware of everything you do.
    Spiritual stories-http://www.bollyvista.com/forum/index.php/topic,1668.0.html

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #226 on: March 16, 2007, 09:16:28 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    वैसी ही अंधेरी रात है वो ही मैं हूं
    मन के एक कोने में
    बार-बार करवट बदल रहा है तुम्हारा ख़्याल
    मैं पहली बार सोच रहा हूं
    रोशनी से झिलमिताली हुई आकाशगंगा के बारे में

    तुमने ठहरे हुए पानी पर यूं ही मार दिया है कंकड़
    मैं जलतरंगों सा फैलता जा रहा हूं हर दिशा में
    कि देखूं कहां-कहां है ज़िंदगी

    'तुमसे' प्यार करके मैंने सीखा है
    ज़िदगी से प्यार करना.

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई 

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #227 on: March 17, 2007, 01:07:40 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    वाणी का वरदान दो सांई माँ,
    विश्व का कल्याण हो सांई माँ
    कर दूं मैं सब कुछ समर्पित ,
    आपके चरणों मैं हे सांई माँ

    शब्दों का भंडार दो सांई माँ ,
    अर्थों का विज्ञान दो सांई माँ
    रच दूं मैं कुछ ऐसी कविता,
    सृष्टि का उपकार हो सांई माँ

    लेखनी को दे दो वो बल ,
    कर सके सत्कार्य हरपल
    ज्ञान का प्रकाश दो सांई माँ ,
    चन्द्रमा की शीत दो सांई माँ

    करता हूं विनती अब तुमसे,
    हाथ जोङ समक्ष खङा होकर
    भाषा को संस्कार दो सांई माँ,
    लिखने का आशीष दो सांई माँ

    आपकी कृपा जो होवे,
    असंभव भी संभव होवे,
    तलवार ने जो कर सके,
    लेखनी वो कर देवे हे सांई माँ,

    शील का उपहार दो सांई माँ,
    लिख सकूं कुछ ऐसा सुन्दर,
    हो सके उद्धार जन का

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #228 on: March 17, 2007, 11:44:00 PM »
  • Publish
  • सांई राम।।।

    मेरे कानो में चुपके से कौन सदा देता है?
    मेरे अंदर बुझी हुई राख को कौन हवा देता है?
    हर दर्द और हर ग़म को बसा रखा है मैंने सीने में,
    यह दर्द ही है जो हर पल जीने का मज़ा देता है,
    बीत रही है मेरी उमर एक तन्हा से दर्द के साथ,
    "उसकी" यादो का मधुर उजाला इसमें कोई दीप सा जला देता है,
    जब भी की मैने किसी से भल्लाई की बात इस ज़माने में,
    "वोह" ही मुझे सबके सामने गुनहगार ठहरा देता है,
    जब भी देखा किसी के दिल में झाँक कर मैने तो एक दर्द ही पाया,
    यह दर्द का रिश्ता भी कभी कभी दो दिलो को मिला देता है,
    मेरे दिल को कितना मासूम बना दिया है मेरे सांई ने
    कि अब ये मुझे दर्द देने वाले को भी दुआ देने पर मजबूर कर देता है

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #229 on: March 19, 2007, 08:37:40 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    द्वार पर दीपक जलाना

    ना कभी आँसू बहाना ना बिरह के गीत गाना।
    याद मेरी याद आए तो तुम द्वार पर दीपक जलाना।

    एक दीपक दूर करता
    है करोड़ों का अंधेरा
    दीप तबतक साथ रहता
    जब तलक ना हो सवेरा

    दीप की लौ मंद हो तो मधुर दीपक राग गाना
    याद मेरी आए तो तुम द्वार पर दीपक जलाना

    दीप आखिर दीप है
    पूजा का हो या आस को हो
    मुश्किलों मे मीत है
    शुभकामना या याद को हो।

    रेत का मंदिर बना कर उसको सीपी से सजाना
    याद मेरी आए तो तुम द्वार पर दीपक जलाना

    इन अंधेरों से उलझ
    तूफान मे धिरना नही
    नाव से होकर बिलग
    मंझधार मे गिरना नहीं

    रास्ते की थकन को आकाश दीपक सा सजाना
    याद मेरी आए तो तुम द्वार पर दीपक जलाना।

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline mainhoonsaibeti

    • Member
    • Posts: 932
    • Blessings 4
    Re: You are my inspiration
    « Reply #230 on: March 20, 2007, 12:03:19 AM »
  • Publish
  • Rameshji i can never read what you have typed it only shows as blocks on my screen ??? like these

    राम।।।
    OM SAI RAM
    Peace Be To All

    Sai says:
    Whatever you do, wherever you may be, always bear this in mind: I am always aware of everything you do.
    Spiritual stories-http://www.bollyvista.com/forum/index.php/topic,1668.0.html

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #231 on: March 21, 2007, 08:22:19 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    गीता का संदेश - मै योगेश्वर की वाणी हूँ।
     
    गीता ने संदेश दिया,
    अर्जुन तुम उठ जाओ।
    मोह लोभ का त्याग करो,
    मेरे ज्ञान को अपनाओ।

    योगेश्वर की वाणी हूँ मै,
    कृष्ण ही मुझमें समाये है।
    मेरे विचारों से ही,
    मन को शान्ति मिल पाये।
     
    क्यों करते हो 'मै' का प्रर्दशन,
    तुममे अतुलित बल है।
    जब योगेश्वर है तेरे सारथी,
    तब तू क्यों निश्चल है।
    कर्म तेरा कहता है,
    इस कुरुक्षेत्र की भूमि पर।
    अपनो का ही संहार करो,
    मत अपने आगे लाचार बनो।

    कौरव रुपी सेना मे,
    लोभ, मोह और काम के होते दर्शन।
    मार के इन पापियों को,
    बन्द करो इनका नर्तन।

    नही समय यह सोचने का,
    कि कौन द्रोण कौन भीष्म है।
    क्यो प्रकृति विधान कहती है,
    नियम है गेंहू संग घुन पिसने का

    रण क्षेत्र मे नही है कोई भाई,
    क्योंकि सब मे शत्रुता कूट कूट के समाई!
    उठावो गांडीव करो टंकार,
    एक बार मे करो संहार!
    गीता का ज्ञान स्वंय कहता है,
    जो खुद प्रयास करता है!
    वो इस वसुन्धरा पर रहता है,
    जो मरता है वीर गति प्राप्त करता है!

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline bohemianbab

    • Member
    • Posts: 196
    • Blessings 0
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #232 on: March 21, 2007, 11:02:23 AM »
  • Publish
  • Om Sai Ram,

    .................

    just wandering Rameshji...

    beautiful messgae..
    babita
     

    Offline tana

    • Member
    • Posts: 7074
    • Blessings 139
    • ~सांई~~ੴ~~सांई~
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #233 on: March 22, 2007, 06:39:38 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    गीता का संदेश - मै योगेश्वर की वाणी हूँ।
     
    गीता ने संदेश दिया,
    अर्जुन तुम उठ जाओ।
    मोह लोभ का त्याग करो,
    मेरे ज्ञान को अपनाओ।

    योगेश्वर की वाणी हूँ मै,
    कृष्ण ही मुझमें समाये है।
    मेरे विचारों से ही,
    मन को शान्ति मिल पाये।
     
    क्यों करते हो 'मै' का प्रर्दशन,
    तुममे अतुलित बल है।
    जब योगेश्वर है तेरे सारथी,
    तब तू क्यों निश्चल है।
    कर्म तेरा कहता है,
    इस कुरुक्षेत्र की भूमि पर।
    अपनो का ही संहार करो,
    मत अपने आगे लाचार बनो।

    कौरव रुपी सेना मे,
    लोभ, मोह और काम के होते दर्शन।
    मार के इन पापियों को,
    बन्द करो इनका नर्तन।

    नही समय यह सोचने का,
    कि कौन द्रोण कौन भीष्म है।
    क्यो प्रकृति विधान कहती है,
    नियम है गेंहू संग घुन पिसने का

    रण क्षेत्र मे नही है कोई भाई,
    क्योंकि सब मे शत्रुता कूट कूट के समाई!
    उठावो गांडीव करो टंकार,
    एक बार मे करो संहार!
    गीता का ज्ञान स्वंय कहता है,
    जो खुद प्रयास करता है!
    वो इस वसुन्धरा पर रहता है,
    जो मरता है वीर गति प्राप्त करता है!

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    OM SAI RAM!!!

    sai ram Ramesh bhai...
    shabd hai he nahi bolne k liye....

    JAI SAI RAM!!!

    ॐ सांई राम।।।

    "लोका समस्ता सुखिनो भवन्तुः
    ॐ शन्तिः शन्तिः शन्तिः"

    " Loka Samasta Sukino Bhavantu
    Aum ShantiH ShantiH ShantiH"~~~

    May all the worlds be happy. May all the beings be happy.
    May none suffer from grief or sorrow. May peace be to all~~~

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #234 on: March 23, 2007, 01:38:18 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    तुम मानो या ना मानो ये हकीकत है,
    मेरे जैसे दोस्त की आज के इन्सान को जरुरत है,
    किसी दिन आओ मेरी शिरडी की महफिल में
    जान जाओगे जिन्दगी कितनी खूबसूरत है।

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #235 on: March 23, 2007, 10:08:13 PM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    सांई जब से हम आपके हो बैठे,
    अपने होशहवास ही खो बैठे।

    दुनिया मे बहुत सारे रिश्ते हैं,
    पर हम किसी के बन न सके,
    ना जाने कशिश क्या है आपमें
    एक नज़र से दिल अपना दे बैठे।

    जिन्दगी से हम लड़ते थे अकेले
    वीरानी मे खुद को छुपाए हुए,
    इनायत जो आपकी हुई हम पर
    अपनी रुह का पर्दा उठाए बैठे।

    बहुत गरुर था हममें सांई
    दुनिया को झुकाएँगे कदमों पे
    बने है खादिम जबसे आपके
    अपनी हस्ती को हम मिटाए बैठे।

    खूब ज़िक्र था अपनी दुनिया में हमारा
    खबर थी हमारी हर जुबान में,
    जसे हम पास आपके आने लगे
    इस दुनिया से बेखबर हो बैठे।

    क्या अनोखा अंजुमन है आपका
    नशा दुनियाबी ही उतर गया,
    पाकमस्ती का आलम ये था कैसा
    सिर झुकाए तेरे कदमों पे जा बैठे।

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Ramesh Ramnani

    • Member
    • Posts: 5501
    • Blessings 60
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #236 on: March 24, 2007, 11:49:32 PM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    बस एक ही शब्द

    पर्याप्त है

    कहने को तुम पर कविता

    एक शब्द !

    अर्थात नाम तुम्हारा |

    "बाबा"

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।
    अपना साँई प्यारा साँई सबसे न्यारा अपना साँई - रमेश रमनानी

    Offline Kavitaparna

    • Member
    • Posts: 2710
    • Blessings 9
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #237 on: March 29, 2007, 07:26:02 PM »
  • Publish
  • OM SRI SAI RAM

    om sai namo namaha
    sri sai namo namaha
    jai jai sai namo namaha
    sadguru sai namo namaha

    om sai namo namaha
    sri sai namo namaha
    jai jai sai namo namaha
    sadguru sai namo namaha

    om sai namo namaha
    sri sai namo namaha
    jai jai sai namo namaha
    sadguru sai namo namaha

    JAI SRI SAI RAM
    OM SAI NAMO NAMAHA SRI SAI NAMO NAMAHA
    JAI JAI SAI NAMO NAMAHA SADGURU SAI NAMO NAMAHA



    kavita

    Offline tana

    • Member
    • Posts: 7074
    • Blessings 139
    • ~सांई~~ੴ~~सांई~
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #238 on: March 31, 2007, 07:29:17 AM »
  • Publish
  • जय सांई राम।।।

    बस एक ही शब्द

    पर्याप्त है

    कहने को तुम पर कविता

    एक शब्द !

    अर्थात नाम तुम्हारा |

    "बाबा"

    अपना सांई प्यारा सांई सबसे न्यारा अपना सांई

    ॐ सांई राम।।।




    om sai ram ~~~


                                           बाबा


    jai sai ram ~~~
    "लोका समस्ता सुखिनो भवन्तुः
    ॐ शन्तिः शन्तिः शन्तिः"

    " Loka Samasta Sukino Bhavantu
    Aum ShantiH ShantiH ShantiH"~~~

    May all the worlds be happy. May all the beings be happy.
    May none suffer from grief or sorrow. May peace be to all~~~

    Offline sureshsarat

    • Member
    • Posts: 826
    • Blessings 8
      • Sai Baba
    Re: You are my inspiration
    « Reply #239 on: March 31, 2007, 10:27:04 AM »
  • Publish
  • Om Sri Sainathaya Namaha
    Om Sri Sainathaya Namaha
    Om Sri Sainathaya Namaha
    Rameshji Sairam
    I love reading your stories. But I prefer the english ones. The hindi ones are fine but  my hindi is rustic not being what it used to be before. So I request some english posts too.
    Suresh

     


    Facebook Comments